डॉ सुभाष चंद्रा : जीवन परिचय




डॉ सुभाष चंद्रा एस्सेल समूह के चेयरमैन हैं। वे हरियाणा राज्य से राज्यसभा सांसद चुने (2016) गए हैं। उन्होंने ही टीवी चैनल नेटवर्क ज़ी मीडिया की स्थापना की है।

                                           सुभाष चंद्रा का जन्म 30 नवंबर 1950 को हरियाणा स्थित , हिसार जिला के गांव में हुआ था। वे वैश्य समुदाय से हैं।

                                           सुभाष चंद्रा ने डीएवी स्कूल से पढ़ाई की है। उनके परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी। जब सुभाष चंद्रा 17 वर्ष के थे, तो उनको स्कूल छोड़ना पड़ा। सुभाष चंद्रा ने केवल दशमी तक की ही पढ़ाई की है।

                                                      सुभाष चंद्रा अपने परिवार की सहायता के लिए पारिवारिक व्यापार में आ गए। उनका परिवार भारतीय खाद्य निगम में चावल आपूर्ति का काम करता था।

                     1980 में उन्होंने एस्सेल पैकेजिंग नाम से एक नया काम शुरू किया। वे टूथपेस्ट के लिए प्लास्टिक ट्यूब बनाने लगे।

                                         1992 में उन्होंने ज़ी टेलीविज़न शुरू किया था। यह भारत का पहला निजी सैटेलाइट टीवी चैनल था। आज ज़ी मीडिया के टीवी चैनलों की संख्या 70 से भी ज्यादा है। यह 171 देशों में देखे जाते हैं। डॉ सुभाष चंद्रा ने ही भारत का पहला निजी समाचार चैनल शुरू किया था।

                                        इसके अतिरिक्त एस्सेल समूह लॉटरी, रेडियो चैनल , सिनेमा मल्टीप्लेक्स तथा आधारभूत संरचना के निर्माण जैसे व्यापार में लगा हुआ है।

                                      सुभाष चंद्रा को यूनिवर्सिटी ऑफ इस्ट लंदन ने डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया है।

                                      2014 में डॉ सुभाष चंद्रा ने बीजेपी के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए। बाद में, वे बीजेपी के टिकट से ही राजसभा सांसद बने।

                                                  डॉ सुभाष चंद्रा ‘डॉ सुभाष चंद्रा शो’ का संचालन भी करते हैं। इसका प्रसारण ज़ी मीडिया समूह के चैनलों पर किया जाता है। इसमें वे युवाओं को जीवन में सफल होने और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं।

                                       डॉ सुभाष चंद्रा ने एक पुस्तक लिखी है, जिसका नाम ‘ दाॅ जेड फैक्टर’ है। यह पुस्तक उनके जीवन पर आधारित है।

Comments

Popular posts from this blog

लेनिन के प्रसिद्ध कथन

मदन मोहन मालवीय : जीवन परिचय

हिटलर : जीवन परिचय